You are here
Home > Exam Preparation > गरीब लड़की कैसी बनी IAS | IAS Motivational Story in Hindi for Success

गरीब लड़की कैसी बनी IAS | IAS Motivational Story in Hindi for Success

यह पोस्ट (IAS Motivational Story in Hindi for Success) एक ऐसी कहानी है जो हर लड़की की सोच बदल देगी, यह कहानी हर लड़की को अंदर से मजबूत कर देगी, यह IAS और IPS बनने वालो के लिए बहुत ही अच्छी कहानी हैं, यह कहानी IAS बनने के लिए मजबूर कर देगी | 

आज के इस IAS Motivational Story in Hindi for Success में ऐसी एक कहानी है जो हर लड़की की सोच बदल देगी, जो ये सोचती है कि उनके परिवार वालों के विचार, समाज या संसाधनों की कमी की वजह से वो अपने सपनों को पाने में असफल हो जाती है।

अगर आपके मन में भी यही विचार है कि आप अपने सपनों को नहीं पा सकते, तो इस IAS Motivational Story in Hindi for Success को अंत तक जरूर पढ़ना, यह कहानी आप लोगो की जिन्दगी बदल देगी, तो दोस्तों इस IAS Motivational Story in Hindi for Success को बड़े ही ध्यान से पढ़े |

तो चलिए दोस्तों IAS Motivational Story in Hindi for Success की शुरुआत करते हैं |


गरीब लड़की कैसी बनी IAS 

IAS Motivational Story in Hindi for Success 

ये कहानी हैं उत्तराखंड के एक छोटे से गांव में रहने वाली मधुशाला तिवारी की, मधुशाला के पिता की गांव में थोड़ी सी जमीन थी जिसमें उसकी मां खेती किया करती थी और मधुशाला के पिता कपड़ों की बुनाई का छोटा सा व्यापार करते थे।

मधुशाला कस्बे में एक सरकारी विद्यालय में पढ़ने जाया करती थी। एक बार School के एक सार्वजनिक Program में मधुशाला को एक Program में प्रस्तुति देनी थी और उन्हें बालिका शोषण पर एक प्रस्तुति देनी थी। इसमें मधुशाला को पुलिस ऑफिसर बनने का किरदार दिया गया था |

मधुशाला ने किरदार को बहुत अच्छी तरह निभाया था। मधुशाला ने अपने IPS के किरदार के रूप में बहुत प्रभावित हुई और उसने अध्यापक से IPS Officer के बारे में पूरी जानकारी ली, तो वह बहुत प्रभावित हुई। मधुशाला का जीवन बहुत साधारण था। (IAS Motivational Story in Hindi for Success)

उसके पिताजी की आय बहुत न्यूनतम थी। उसके पिताजी की इतनी हैसियत नहीं थी कि उसके सारे सपने पूरे कर सके। बस उसके मम्मी और पापा का इतना सा सपना था कि वो उसे सिलाई कढाई का अच्छा काम सिखा कर, बस उसकी शादी कर दे।

पर मधुशाला खुद का एक अपना सपना अपने दिल में बसा चुकी थी जिसे वो जानती भी नहीं थी कि वो क्या सपना देख रही है और कितने कठिन रास्ते वाला सपना देख रही है। मधुशाला एकदम मासूम, खूबसूरत और पढ़ने में बहुत अव्वल थी। (IAS Motivational Story in Hindi for Success)

मधुशाला ने दसवीं क्लास 80 प्रतिशत अंकों से पास की थी। साथ ही ओली कपड़ों की बनावट में भी महारत हासिल कर ली थी। मधुशाला के घरवाले जितना उसकी दसवीं के रिजल्ट को देखकर प्रसन्न नहीं थे उतना ऊनी कपड़ों की बनावट में कुशलता देख कर थे।

अब मधुशाला के चर्चे उनके समाज में बहुत अधिक होने लगे थे क्योंकि वो बहुत खूबसूरत, होनहार थीं। मधुबाला कस्बे के पास ही शहर में 11th के लिए पढ़ने जाने लगी थी और एक बहुत बड़े व्यवसायी के पुत्र रघु तिवारी को बहुत पसंद आ गयी थी। (IAS Motivational Story in Hindi for Success)

रघु ने अपने पिता से कहकर मधुशाला के घर पर रिश्ता भिजवा दिया था और ये रिश्ता मधुशाला के माता पिता के लिए स्वर्ग के समान था, रघु के घरवाले रघु की शादी इसी साल करना चाहते थे परन्तु मधुशाला ने शादी करने के लिए साफ साफ इनकार कर दिया था

लेकिन उस पर उसके परिवारवालों का, रिश्तेदारों का बहुत दबाव बनाया गया। तब उसने कहीं जाकर अंत में शादी के लिए हां करनी पड़ी और उसने एक शर्त रखी थी कि वो पढ़ाई जारी रखेगी और शादी किसी भी हाल में 12वीं के बाद ही करेगी चूंकि उसके दिल में भी IPS Officer बनने का एक सपना पनप रहा था।

Also Read – Competitive Exam की तैयारी कैसे करें | How to Prepare Competitive Exam in 2021

Also Read – How to Prepared for Civil Service Exam in Hindi | 2021 UPSC की तैयारी कैसे करें?

उसके ससुराल वालों ने उसकी शर्त गंभीरता से नहीं ली और हाँ कर दी। पढ़ाई जारी रखने के लिए और मधुशाला का रिश्ता पक्का कर दिया गया। मधुशाला ने क्लास 12th में 85 प्रतिशत अंक प्राप्त किए। इसकी खुशी ना मधुशाला के परिवार को थी ना ही ससुराल वालों को थी |

मधुबाला की शादी धूमधाम से कर दी गई क्योंकि उसके ससुराल वाले बहुत पैसे वाले थे। शादी के दस दिन में मधुशाला ने भाप लिया था कि उसके पति रघु ने इसे उसकी खूबसूरती के लिए उसे शादी की है। उसका पढ़ाई के नाम पर कॉलेज में दाखिला करवा दिया गया और उसे बाहर जाने की अनुमति नहीं दी गई।

बस उसे परीक्षा में बाहर जाने की अनुमति दी गई। शादी के कुछ दिन मधुशाला ने देखा कि उसके पति रघु के अन्य महिलाओं के साथ संबंध भी रहने लगे और वो नशा भी करने लगा और कभी कभी तो नशे में घर भी आने लगा। पर मधुशाला को सिर्फ और सिर्फ अपना सपना पूरा करना था,

वह कॉलेज में अच्छे अंक लाने के लिए पढ़ाई करती रही। उदासीन के समान उसके सुसराल में उसका जीवन व्यतीत हो रहा था और इसी तरह उसने अपने कॉलेज की ग्रेजुएशन भी पूरी कर ली। अब मधुशाला के मन में दिल्ली जाकर IPS की तैयारी करने का था,  (IAS Motivational Story in Hindi for Success)

पर वो ये बात अपनी ससुराल को नहीं बता पा रही थी। एक दिन डरते डरते मधुशाला ने अपने पति रघु को ये बात बताई। उसने साफ मना कर दिया। उन्होंने कहा कि वो अपना फर्ज पूरा कर चुके हैं और अपना वादा भी, मधुशाला घुट घुटकर जीने लगी। (IAS Motivational Story in Hindi for Success)

अब जाने क्यों उसके लिए यह सपना और जरूरी और महत्वपूर्ण होता जा रहा था। इसी बात को लेकर एक दिन मधुशाला और उसके पति के बीच झगड़ा हो गया और मधुशाला के पति ने मधुशाला पर बहुत अत्याचार किया। बात इतनी बढ़ जाने के कारण मधुशाला ने घर छोड़ने का फैसला लिया।

फिर दुसरे दिन वो अपने मां और पिता के घर निकल गई। शुरुआत में उसके माँ और पिताजी उस पर बहुत गुस्सा हुए, जब उन्होंने पूरी आपबीती सुनी तो उनकी सहानभूति भी मधुशाला के साथ हो गई। अब मधुशाला को किसी भी तरह IPS की तैयारी करनी थी पर वो इतना आसान नहीं था। (IAS Motivational Story in Hindi for Success)

हालांकि वो अपने ससुराल वालों से बाहर निकल चुकी थी, मधुशाला की मां और पिता की Financial Condition  इतनी अच्छी नहीं थी कि मधुशाला को Coaching के लिए बाहर भेज दे। इसी बीच मधुशाला ने गांव में सिलाई और कढ़ाई की Training Center स्टार्ट किया और गांव की छोटी छोटी लड़कियों को ट्रेनिंग देने लगी।

सिलाई और कढ़ाई की और साथ में सेल्फ प्रिपरेशन जारी रखी। इसी बीच उसने IPS के लिए Exam भी दिया। वो विफल रही, पर उसे इस परीक्षा से ये पता चल चुका था कि उसे आगे किस प्रकार तैयारी करनी है। मधुशाला ने पूरे एक साल ट्रेनिंग सेंटर चलाकर कुछ पैसे इकट्ठे किए।

कुछ उसके माता पिता की जमा की हुई पूंजी थी और कुछ पैसे उधार लेकर मधुशाला अपने सपनों की डोर के लिए दिल्ली निकल गई। मधुशाला ने छह महीने की कठोर तपस्या और कोचिंग से IPS के लिए प्री एग्जाम क्लियर कर लिया था। (IAS Motivational Story in Hindi for Success)

अब उसे आईपीएस के लिए मेन पेपर की तैयारी करनी थी, पर मधुशाला की पूरी जमा पूंजी खर्च हो चुकी थी। अब उसके पास कोई रास्ता नहीं बचा था मधुशाला समझ नहीं पा रही थी की अब वो इस विकट परिस्थिति में क्या करे। इसी बीच वो गांव चली गई, (IAS Motivational Story in Hindi for Success)

जब उसने अपनी मां और पिता को सारी बात बताई तो उसके माता पिता ने उसका हौसला बढ़ाया। उसके पिता ने कहा उनकी गांव में थोड़ी बहुत जमीन हैं, वो उसे बेचकर अपनी बेटी को पढ़ाएंगे क्योंकि अब उन्हें अपनी बेटी पर पूर्ण विश्वास हो गया था

और इन सबके बीच मधुशाला ने अपने पति से तलाक भी ले लिया था, तो उसके लिए सारे रास्ते क्लियर हो गए थे। मधुशाला ने अपने माता पिता की मजबूरी और उनके हौसलों और अपने ऊपर आई हुई जिम्मेदारी को समझकर परीक्षा की बेहद अच्छी तैयारी की और उसने परीक्षा बहुत अंको से पास की,

उसका इंटरव्यू भी बहुत अच्छा गया और बहुत जल्दी मधुशाला के परिवार में खुशियों की बहार आ गई क्योंकि मधुशाला का आईपीएस अधिकारी के रूप में चयन हो गया था, वो मधुशाला जिसने एक ऐसे परिवार में जन्म लिया था जहां पर वो आईपीएस अधिकारी की क्या, उच्च शिक्षा पाने की भी कभी नहीं सोच सकती थी

जिसने हजारों कठिन रास्तों की डगर को पार करके अपना नहीं, अपने परिवार का नहीं, बल्कि अपने नारीत्व समाज का नाम रोशन किया और उन लाखों लड़कियों के लिए एक मिसाल बनी, जो सोचती है कि सामाजिक बंधन उन्हें अपने सपने पूरे नहीं करने देता।

तो दोस्तों उम्मीद करता हूँ कि आप लोगो को यह कहानी (IAS Motivational Story in Hindi for Success) अच्छी लगी होगी, यदि अच्छी लगी हैं तो हमें कमेंट करके जरुर बताये, साथ ही अपने दोस्तों को भी शेयर करे | 

Also Read – Top 10 Motivational Books जो आपको जरूर पढ़नी चाहिये | Best Inspirational                                   Motivational Self Help Hindi Books

Also Read – ऐसी 5 बातें जो आपको स्कूल में नहीं सिखायी जाती | 5 Self Improvement Tips in Hindi


IAS और IPS बनने के लिए कुछ जरूरी बाते जो आप को हमेशा याद रखनी हैं 

मैं IAS बनूंगा। IAS बनने के लिए मैं कुछ भी कर सकता हूं। मेरी जिन्दगी का बस एक Goal है IAS बनना। हां मैं IAS बनूंगा। मैं IAS बनने के लिए अपनी पूरी आत्मा को लगा दूँगा, मेरी जिन्दगी का सिर्फ एक ही मकसद हैं IAS बनना | 

एक बार फिर सोच ले। ये कोई खेल नहीं है, जिसे बस कांटा खोला और लगा लिया, ये सर को ठंडा रखने वाला कोई तेल नहीं है। ये आग की लपटें हैं, जिसमें तू जल जाएगा, ये बर्फ का पहाड़ है. ठंडा पड़ जाएगा, जा जाकर कोई सस्ती सी नौकरी ढूंढ ले दोस्त,

ये साक्षात मौत है, तू बेमौत ही मर जाएगा। चल लौट जा वापस। अभी ज्यादा दूर नहीं आया है, सर से उतार ले इसे, ये जो मौत का साया है वापस चला जा और दुनिया में सरल काम देख। ये कोई मजाक नहीं है, तू छोटा सा प्राणी है ना, आसमान को देख गुम हो जाएगा, 

और अगर ठान चुका है इसी रास्ते पर चलना है तो नरक में तेरा स्वागत है ( Welcome To Hell )। IAS बनने से पहले नर्क भोगना पड़ता है, आज से तेरा नर्क चालू। ये अंगारों की चादर है तुझे ओढ़ना पड़ेगा, ये बर्फ का समंदर है तुझे तैरना पड़ेगा।

IAS बनना कोई आसान काम नहीं है दोस्त। ये एक नर्क है, जिसमें तुझे रोज जलना पड़ेगा। किसकी Photo में कितने Like आए, किसकी शादी में क्या पकवान है, ये सब भूलकर एक कमरे में खुद को बंद कर ले और याद कर उसको जो तेरा भगवान है

क्योंकि आज से तेरे सारे मनोरंजन बंद। सारा राजपाट छोड़कर भोगना होगा वनवास, अब IAS ही तेरी भूख होगी और IAS ही तेरी प्यास,  पढ़ाई में तुझे रोज 18-20 कुर्बानी देनी होगी, अगर बनना है कुछ खास किताबों से बाहर जाने की तुझे इजाजत नहीं है।

किताब ही तेरा घर हैं, किताब ही तेरा दायरा और IAS की तैयारी ही तेरा भोजन है, तेरे सपनों में भी बस किताबें आनी चाहिए, ध्यान इतना केंद्रित होना चाहिए कि कोई नींद में भी तुझसे पूछे कि क्या चाहिए, मुझे IAS बनना है ये जवाब आना चाहिए। मुझे IAS बनना है ये जवाब आना चाहिए।

तेरी जिन्दगी अब झंड हो जाएगी, तूने आजाद जिन्दगी को छोड़कर खुद को कैद करना होगा। कभी घना तूफान, कभी अंगारों का मैदान। इस आग में तुझको रोज तपना होगा, यारों के साथ मस्ती Social Media पर फ्लर्ट,

कभी सुट्टा शराब, कभी घर से दूर, कभी किसी के निकट ये सबकुछ जिसे तुम जन्नत समझते थे ये जन्नत आज से तुम्हारे जीवन में वर्जित है। अब चैप्टर्स के साथ मस्ती होगी। न्यूज के साथ फ्लर्ट, बस किताब हाथ में होगी, सुट्टा शराब की जगह गुनगुना पानी।

अब एक भी पल खराब नहीं होगा क्योंकि अब किसी मकसद पर ही तेरी जवानी। अब एक भी पल खराब नहीं होगा क्योंकि अब किसी मकसद पर है तेरी जवानी, तूने अपने लिए वो रास्ता चुना है जिसमें बहुत कम लोग चल पाते हैं।

तू सोना है जो जलकर कुंदन बनेगा। लकड़ियां तो जलकर राख बन जाते हैं। इतना फोकस चाहिए कि हर जगह बस किताब ही दिखाई दे। किसी लड़की की तरफ देखें तो चेहरे पर नकाब भी दिखाई दे।

याद रख अब तेरी जिन्दगी में कोई Distraction नहीं चाहिए। ध्यान जाए तो बस तेरे सपने की तरफ। इसके अलावा कोई अट्रैक्शन नहीं चाहिए। प्रतियोगी बहुत हैं, ताज बस एक है, अब तेरी एक पल की भी लापरवाही किसी और को तुझसे आगे कर सकती है।

इसलिए हर एक पल में बस पढ़ाई किसी और से नहीं तेरी खुद से लड़ाई। अपनी आदतों को हरा, अपनी शक्ति को जगा, तू अब एक लक्ष्य पर निकला है मेरे शेर, उठ और अपनी पूरी जान लगा, देख लोग सिर्फ UPSC का फॉर्म भर देते हैं

और हर जगह जाकर बोलते हैं IAS की तैयारी कर रहा हूं, ताकि चार लोगों में दबदबा बना सकें। वह ऐसा करते हैं खुद को धोखा देने के लिए, अपना टाइम और अपने मां बाप का पैसा बर्बाद करने के लिए।

क्योंकि उनको पता है फॉर्म भरने से ही उनका लेवल कितना ऊँचा हो जाता है। अगर तुझे भी ऐसा ही करना है तो हाथ जोड़ता हूँ दोस्त, मत कर ऐसा लेकिन सोच जिसका सिर्फ फॉर्म भरने से लेवल इतना ऊंचा हो जाता है जब तू IAS बन जाएगा तो सोच क्या होगा।

अरे इतिहास रच देगा, तू इतिहास का एक उदाहरण बन जाएगा। ये पद, तेरी पावर, तेरा सामर्थ्य, तेरे ज्ञान का गवाह है दोस्त, IAS बनने के बाद सोच क्या क्या होगा। तुम एक योद्धा की पोशाक पहन कर युद्ध से भागोगे या

फिर खुद को तपाकर दर्द सहकर एक महान योद्धा बनोगे और हर जंग को जीतकर इतिहास का हीरो कहलाएंगे। IAS की वो कुर्सी कह रही है खुद के साथ ईमानदार रहो, उसका पद कह रहा है मेहनत करो,

उसका पावर बोल रह हैं मुझे तेरा इंतजार है और उसका कर्तव्य बोल रहा है एक तू ही है जो मेरे लायक है।

हां IAS बनने के लिए नर्क भोगना पड़ेगा। पढ़ाई पढ़ाई पढ़ाई और बस पढ़ाई, इस आजाद जिन्दगी को नियमों में बांधना होगा। कब हंसना है, कब रोना है, कब जागना है, कब सोना है, हर एक पल का नियम बनाना होगा। हा ये एक नर्क है अपनी ख्वाहिशों को मारना होगा।

अपने हार्मोन्स को शांत करना होगा। अपनी आदत, अपना स्वाद, अपनी पसंद सब कुछ भूलकर बस किताबों के साथ खुद को एकांत करना होगा। हां ये सबकुछ एक नर्क है। पर जब तुम इस नर्क को पार कर लोगे, तुम्हें स्वर्ग मिलेगा।

वो हर चीज तुम्हारे पास होगी जिसका एक इंसान ख्वाब देखता है, तुम्हारा सीना चौड़ा होगा कि तुमने ऐसी राह चुनी जिसे बहुत कम लोग चुनने का साहस जुटाते हैं और तुमने पूरी इमानदारी से सबकुछ किया।

तुमने अपने लिए नरक खुद बनाना होगा क्योंकि इस नर्क के बिना IAS बनने का स्वर्ग नहीं मिल सकता, तो बोल मेरे साथ हां मैं पूरी इमानदारी से लड़ूंगा। मैं IAS बनूंगा। अब ठान लिया है, तो पीछे नहीं हटूंगा।

मैं IAS बनूंगा, इस नर्क को भी हंसते हंसते पार करना है मुझे। मैं एक योध्दा हूं जो इतिहास रचुंगा। हां मैं IAS बनूंगा। मैं एक योध्दा हूं जो इतिहास रचेगा। हां मैं IAS बनूंगा। मैं एक योध्दा हूं जो इतिहास रच दूंगा। हां मैं IAS बनूंगा।

वो हीरो अगर तुझे IAS बनना चाहता है ना तो नरक में तेरा स्वागत ( Welcome To Hell ) है और हाँ मैं जीत के शिखर पर तेरा इंतजार करूंगा। बोल तू आएगा ना।


तो दोस्तों ये थी IAS Motivational Story in Hindi for Success और IAS और IPS बनने के कुछ जरूरी बाते, उम्मीद करता हूँ दोस्तों आप लोगो को यह अच्छा लगा होगा |

इसे भी पढ़े – अजनबियों से बात करने के 7 नियम | How to Start a Conversation With a Stranger

इसे भी पढ़े – Akshay Kumar Biography And Success Story In Hindi

 

Leave a Reply

Top